दोस्त की मम्मी ने चूत चुदाई करनी सिखाई Part 1 – Sex Story Audio

इंडियन हॉट आंटी सेक्स कहानी मेरे दोस्त की मम्मी की है. उन्होंने मुझे उन्हीं के घर में मुठ मारते पकड़ लिया था. उसके बाद आंटी ने मेरे साथ क्या किया?

मेरा नाम तन्मय है, मैं दिल्ली में रहकर अपनी पढ़ाई कर रहा हूं.
यहां मैं अपने रिश्तेदार के यहां रहता हूं जो मेरे बाबा के छोटे भाई हैं जो मेरे भी बाबा लगते है।

दिल्ली में मैं, दादी, बाबा, उनका बेटा उनकी बहू और उनकी एक पोती रहते हैं. उनकी पोती मुझ से 3 साल बड़ी है।

मुझे दिल्ली में रहते हुए लगभग 3 साल हो चुके हैं.

आज मैं आपको जो कहानी सुनाने जा रहा हूं वह लॉकडाउन की समय की बात है।

यह कहानी मेरी और मेरे पड़ोस की आंटी की है। यह इंडियन हॉट आंटी सेक्स कहानी बिलकुल सत्य है।

मैं फ़्री सेक्स स्टोरी के सभी पाठकों से यह कहना चाहता हूं कि अगर मेरी कहानी किसी पाठक से मिलती है तो मैंने आप की कहानी को कॉपी नहीं किया है।
यह घटना जिस तरह से मेरे साथ हुई है मैंने उसी तरह आप के लिए लिखने की कोशिश की है।
मैंने इस कहानी के सभी पात्रों के नाम बदल दिए हैं।

तो दोस्तो, आपका समय बर्बाद किए बिना सीधे कहानी पर आता हूं.
सभी लड़कियां और औरतें अपनी चूत में उंगली डालने के लिए तैयार हो जायें और सभी लंड धारी अपने लंड को हाथ में ले लें और इस कहानी का मजा लें।

मेरे बाबा मेरे मम्मी, पापा से मिलने कानपुर गए थे, मेरा घर कानपुर में है। मेरे घर में मैं मेरे मम्मी, पापा और मेरे बाबा और दादी रहते हैं।

लॉक डाउन की वजह से बाबा मेरे मम्मी पापा के साथ रह रहे थे और वापस नहीं आ पाए थे।

मेरे पड़ोस में मेरा दोस्त रहता है उसके घर में मेरा दोस्त राहुल, उसकी छोटी बहन और मम्मी, पापा रहते थे।
राहुल के पापा दूसरे शहर में जॉब करते थे।

मैं और राहुल बहुत अच्छे दोस्त हैं. हम पड़ोसी होने की वजह से हमेशा साथ में रहते थे.
राहुल मुझसे बहुत खुला हुआ था, वह मुझसे सभी तरह की बातें करता था।

हम दोनों घर पर ही रहते थे इसलिए हम दोनों एक दूसरे के साथ ही ज्यादातर वक्त बिताते थे. हम दोनों एक दूसरे के घर में कभी भी आते जाते थे।

राहुल के पास कंप्यूटर है। उसके कंप्यूटर में हम सेक्स वीडियो देखते थे और साथ में बैठकर मुट्ठ मारा करते थे.
कभी-कभी हम दोनों एक दूसरे की मुट्ठी मार दिया करते थे और एक दूसरे का लंड चूस कर एक दूसरे को मजा भी देते थे।

मैं आपको बताना चाहता हूं कि हम दोनों गे नहीं हैं. हम दोनों लड़कियों की चुदाई करना चाहते हैं.
मगर हमारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी इसलिए हम कभी-कभी एक दूसरे का लंड चूस लिया करते थे।

हमारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी इसलिए हम लोगों ने कभी सेक्स नहीं किया था, हम दोनों ही वर्जिन थे।
गली में सभी हमारे बहुत अच्छे दोस्त हैं, सभी लड़के और लड़कियां हम सब एक दूसरे के घर जाते हैं और कभी-कभी घर में रुक भी जाते हैं।

1 दिन मैं राहुल के घर गया था तो राहुल सो रहा था.
आंटी ने मुझे बताया कि राहुल सो रहा है.
तो मैंने उनसे कहा- आंटी, मुझे कंप्यूटर पर थोड़ा काम करना है.
आंटी ने कहा- ठीक है, जाकर अपना काम कर लो.

मैं अंदर गया तो देखा कि राहुल अपने कपड़े उतारकर अंडरवियर में बेड के ऊपर लेट कर सो रहा था.
मैंने उसका कंप्यूटर राउंड किया और अपना काम करने लगा.

थोड़ी देर काम करने के बाद मैं राहुल के कंप्यूटर में सेक्स वीडियो देखने लगा.

वीडियो देखने के बाद मैं गर्म होने लगा था.
मेरा लंड पूरी तरह खड़ा हो गया था.

मैं अपने लंड को पैन्ट से निकाल कर मुठ मारने लगा, मेरी आंखें बंद हो गई थी.
मेरा पानी निकलने वाला था कि तभी किसी ने मेरे कंधे पर अपना हाथ रखा.

मुझे लगा कि राहुल होगा तो मैं अपने लंड को हिलाता रहा और अपना पानी निकाल दिया.

मैंने जब पीछे मुड़कर देखा तो मुझे यकीन नहीं हुआ कि वह आंटी थी जिन्होंने मेरे कंधे पर हाथ रखा था.
मतलब आंटी ने मुझे देख लिया कि मैं राहुल के कंप्यूटर में सेक्स वीडियो देख रहा था और मुट्ठ मार रहा था।

मैंने डर की वजह से अपने लंड पर ध्यान ही नहीं दिया कि वह अभी भी खड़ा है.

मैंने आंटी का हाथ पकड़ा. मेरे हाथ में मेरा पानी लगा हुआ था जो आंटी के हाथ में भी लग गया.
आंटी कुछ बोलती … इससे पहले मैंने आंटी को बोला- आंटी मुझे माफ कर दीजिए. मैंने यह जानबूझकर नहीं किया. यह पेज अपने आप खुल गया था. आज के बाद मैं ऐसा कभी नहीं करूंगा. प्लीज आप किसी को मत बताना. वरना मुझे बहुत डांट पड़ेगी.

आंटी मुझे देख रही थी कि मेरा लंड कभी भी खड़ा है.
उन्होंने मुझसे कहा- राहुल सो रहा है. बाहर चल कर बात करते हैं.

मैं आंटी के साथ कमरे के बाहर चला गया.
आंटी का हाथ मैंने अभी तक पकड़ के रखा था.

मैंने आंटी से कहा- आंटी, प्लीज मुझे माफ कर दीजिए. अब दोबारा ऐसा नहीं होगा.
आंटी ने मेरा हाथ पकड़ कर हटाया और अपना हाथ देखने लगी जिस पर मेरे लंड का पानी लगा हुआ था.

वे अपना हाथ सूंघने लगी और बोली- यह क्या है? तुम यही सब करते हो राहुल के कंप्यूटर में?
मैंने आंटी से कहा- सॉरी आंटी, हम ऐसा नहीं करते हैं. वहां गलती से यह पेज खुल गया और मैंने यह सब किया. सॉरी आंटी!

आंटी ने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ा और मुझसे कहा- इसे अपनी पैन्ट के अंदर करो. वरना राहुल देख लेगा।

मुझे अचानक याद आया कि मैंने अपना लंड अभी तक पैंट के बाहर निकाल कर ही रखा है.
आंटी के हाथों के स्पर्श से मेरा लंड और खड़ा हो गया था.
मुझे अपने लंड पर आंटी के हाथों का स्पर्श बहुत अच्छा लग रहा था।

मैंने जल्दी से अपने लंड को पैंट के अंदर किया और आंटी की तरफ देखने लगा.
आंटी ने मुझसे बोला- क्या तुम राहुल के कंप्यूटर में यही सब देखते हो?
तो मैं कुछ नहीं बोला.

मुझे लगा अगर मैं कुछ बोलूंगा तो फंस जाऊंगा।

आंटी ने मुझसे फिर से पूछा- क्या राहुल भी यही सब देखता है तुम्हारे साथ?
मैं तो अभी कुछ नहीं बोला।

आंटी ने मुझे बैठने के लिए बोला और वे भी मेरे साथ सोफे पर बैठ गई.
उन्होंने मुझसे बोला- तुम जो यह कर रहे थे, यह तुम्हारे लिए बिल्कुल सही नहीं है. तुम्हें यह सब नहीं करना चाहिए. ऐसा करने से तुम कमजोर हो जाओगे और आगे चल कर इसका इस्तेमाल नहीं कर पाओगे।

आंटी की इस बात से मैं डर गया, मैं रोने लगा.
मैंने आंटी से कहा- आंटी, मुझे इस बारे में कुछ भी नहीं पता था. मैं आगे से ऐसा नहीं करूंगा. मुझे बीमार नहीं होना है. प्लीज मेरी मदद कीजिए. आप जैसा कहोगे, मैं वैसा ही करूंगा।

आंटी बोली- ठीक है. मगर मैं जो भी पूछूं, उसका तुम्हें सही सही जवाब देना होगा.
मैंने हां में अपना सर हिला दिया।

आंटी ने मुझसे पूछा- क्या तुम यह वीडियो रोज देखते हो?
तो मैंने कहा- नहीं आंटी, रोज नहीं देता हूं पर 2 या 3 दिन में देख लेता हूं।

आंटी- क्यों देखते हो यह वीडियो?
मैं- आंटी, मुझे जब सेक्स करने का मन होता है तो मैं देख लेता हूं, मुझे इसमें मजा आता है।

आंटी- क्या राहुल भी तुम्हारे साथ ये वीडियो देखता है?
मैं- आंटी, राहुल भी ऐसे वीडियो देखता है और कभी कभी हम दोनों साथ मैं भी वीडियो देखते हैं.

आगे मैं बोला- आंटी, राहुल ने ही मुझे इस वीडियो के बारे में बताया था और मुझे …
मैं इतना कहकर चुप हो गया।

आंटी- बोलो … तुम चुप क्यों हो गए? शरमाओ मत मुझे सच सच बताओ।
मैं- आंटी, राहुल ने मुझे बताया था कि इसे लंड कहते हैं और उसी ने मुझे मुठ मरना भी सिखाया था।

आंटी- अच्छा ठीक है. और क्या तुम दोनों की कोई गर्लफ्रेंड भी है? तुमने कभी सेक्स किया है?
मैं- नहीं … हमारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. हमने कभी सेक्स नहीं किया। हमारा जब भी सेक्स करने का मन होता है वीडियो देखकर मुट्ठ मार लेते हैं।

आंटी- मैं तुम्हें एक बात बताना चाहती हूं. तुम जो इस वीडियो में देखते हो वह सब सच नहीं होता. इन लोगों को सेक्स करने के पैसे मिलते हैं।
मैं- हां आंटी मुझे पता है।

आंटी- जब लड़का और लड़की दोनों सेक्स के लिए राजी हो सेक्स तभी करना चाहिए. और अगर तुम सेक्स करना चाहते हो तो पहले अपने पार्टनर की इजाजत लेनी चाहिए।
मैं- ठीक है आंटी।

आंटी- तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा है तुमने अपने लंड को इतना बड़ा कैसे किया?
मैं- आंटी, मेरा लंड तो हमेशा से इतना ही बड़ा है।
आंटी- अच्छा मुझे अपना लंड दिखाओ … मुझे देखना है।
मैं- अभी आपने मेरा लंड देखा तो था।

आंटी- मुझसे सवाल मत करो … मुझे अपना लंड दिखाओ. तुम्हें ठीक होना है ना?
मैं- हां आंटी, लो देख लो मेरा लंड।

फिर मैंने अपनी पैंट और चड्डी दोनों एक साथ उतार दी और अपना लंड बाहर निकालकर आंटी को दिखाया.
मेरा लंड अब मुरझा चुका था मगर आंटी को वह अच्छा लग रहा था. आंटी बहुत ध्यान से मेरे लंड को देख रही थी।

आंटी घुटनों पर जमीन पर बैठ गई और मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर बोली- तुम्हारा लंड बैठ जाने के बाद भी 5 इंच बड़ा लगता है.

दोस्तो, मुझे लंड के साइज के बारे में कुछ नहीं पता था और मैंने कभी नाप कर भी नहीं देखा था।

मैंने आंटी से पूछा- आंटी, आप ये क्या बात कर रही हो?
तो आंटी ने बताया- लड़कियों को बड़े लंड पसंद आते हैं. अगर तुम्हारा लंड बड़ा होगा तो तुम किसी भी लड़की को खुश कर सकते हो।

मुझे यह जानकर बहुत खुशी हुई कि मेरा लंड आंटी को पसंद आया.

मैंने आंटी से कहा- आंटी मुझे इस बारे में कुछ भी नहीं पता है क्या आप मुझे यह सब सिखाओगे।
तो आंटी ने कहा- हां, मैं तुम्हें सब कुछ सिखा दूंगी. लेकिन एक वादा करना होगा कि तुम किसी को इस बारे में कुछ नहीं बताओगे. और मैं जैसा कहूंगी वैसा करोगे।
मैंने आंटी से कहा- जी हां, आप जैसा कहोगे, मैं वैसा ही करूंगा और किसी को इस बारे में नहीं बताऊंगा।

आंटी ने मेरे लंड को पकड़ा और हल्के – हल्के अपने हाथों से सहलाना शुरू किया. आंटी का स्पर्श मुझे बहुत अच्छा लग रहा था; मुझे ऐसा कभी महसूस नहीं हुआ था।

तभी आंटी ने मेरा लंड अपने मुंह में लिया और अपनी जीभ चलाने लगी.

मैं तो जैसे सातवें आसमान में पहुंच गया था; मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

थोड़ी देर बाद आंटी ने मेरा लंड अपने मुंह से बाहर निकाला और जीभ से मेरे पूरे लंड को चाटने लगी और मेरे गोटों को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.
फिर उन्होंने मेरा लंड अपने मुंह में लिया और जोर जोर से चूसने लगी.

थोड़ी ही देर में उन्होंने मेरा लंड चूस कर खड़ा कर दिया.

मैंने आंटी से पूछा- अब यह बड़ा हो गया है तो क्या यह ठीक है?
आंटी ने बताया- अब यह लगभग 7 इंच का लग रहा है. मुझे इतना बड़ा लंड अभी तक किसी का नहीं मिला. मैं तुम्हारे लंड से चुदाना चाहती हूं।

तो मैंने आंटी को कहा- आंटी, मैंने अभी तक किसी की चुदाई नहीं की है।
आंटी ने कहा- मैं तुम्हें सेक्स करना सिखाऊंगी. चलो हम मेरे कमरे में चलते हैं।

फिर मैं और आंटी हम दोनों उनके बेडरूम में चले गए और गेट अंदर से बंद कर लिया।

राहुल अभी भी अपने कमरे में सो रहा था।

दोस्तो, आपको मेरी इंडियन हॉट आंटी सेक्स कहानी में जरूर मजा आ रहा होगा. आप कमेंट्स और मेल में मुझे बताएं.

इंडियन हॉट आंटी सेक्स कहानी का अगला भाग: दोस्त की मम्मी ने चूत चुदाई करनी सिखाई- 2

Posted in अन्तर्वासना

Tags - antarvasna 2chudai ki mast kahanideshi kahanigaram kahanihot girlindian hot sex storieskamuktakamukta kahaniyaoral sexreal sex storydesi aunty ka chudai