बगल के फ्लैट वाली युवा लड़की की चुदाई – Jabardasti Chudai Ki Kahani

हॉट टीन गर्ल चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपने पड़ोस में रहने वाली अपने से आधी उम्र की जवान गर्म लड़की की चूत चुदाई कैसे की.

दोस्तो, कैसे हैं आप? इस कोरोना वाली स्थिति में आशा करता हूं कि आप सब अपने आप को सुरक्षित रख रहे होंगे।

कोरोना एक बार फिर से तेजी से फैल रहा है। अपना ख्याल रखिए और घर पर रहकर अंतर्वासना की कहानियों का आनंद लेते रहिए।

आज मैं भी आप लोगों को अपनी कहानी बताने जा रहा हूं।

मेरा नाम वीर है और मैं गाजियाबाद के वैशाली एरिया में रहता हूं।
मेरी उम्र 35 साल है.
मैं ये तो नहीं कहूंगा कि मेरा लण्ड 7 इंच या 8 इंच का है। हां इतना जरूर है कि मेरा लिंग एक आम भारतीय की तरह नॉर्मल साइज का है।

मैं अन्तर्वासना से काफी टाइम से जुड़ा हुआ हूं।
मुझे इस साइट पर सेक्स कहानी पढ़ना बहुत पसंद है।

पढ़ते पढ़ते मैंने सोचा कि क्यों न मैं अपने साथ हुई घटना को लिखूं जो कि वास्तविक है।

वैसे मैंने यह हॉट टीन गर्ल चुदाई स्टोरी लिखते वक्त बहुत सावधानी रखी है लेकिन फिर भी कोई त्रुटि रह जाये तो माफ कर देना क्योंकि ये मेरी पहली ही कहानी है।

अब मैं अपनी स्टोरी शुरू करता हूं और ये बात करीब 2 साल पुरानी है, जब मेरा दूसरा बेटा हुआ था।

दोस्तो, मुझे उस वक्त वैशाली में रहते हुए ज्यादा समय नहीं हुआ था।
एक दिन मेरे बगल वाले फ्लैट में एक परिवार रहने आया।

उस परिवार में दादा, दादी, उनका बेटा और उनकी दो पोतियां थीं।
छोटी वाली का नाम था मोना, जो 19 वर्ष की थी।
बड़ी वाली का नाम था निशा, जो 21 वर्ष की थी।

निशा ज्यादातर घर से बाहर रहकर ही पढ़ाई करती थी।
वो शायद बैंक की जॉब के लिए तैयारी कर रही थी लेकिन मोना घर पर रहकर पढ़ाई कर रही थी।
मोना दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रथम वर्ष की छात्रा थी।

दोनों ही बहनें बहुत खूबसूरत थीं लेकिन मोना थोड़ी खुले विचारों वाली थी।

मैं रात का खाना खाकर अक्सर टहलने के लिए जाया करता था।

एक दिन मोना भी वहीं टहलने आ गयी।
उसके साथ उसकी दादी भी आई थी लेकिन वो कुर्सी लेकर उस पर बैठ गयी।

मोना टहलते-टहलते मुझसे बात भी करने लगी।
वो मुझसे अपनी पढ़ाई से संबंधित कुछ पूछने लगी क्योंकि मैंने भी दिल्ली विश्वविद्यालय से राजनीति शास्त्र में स्नातक किया हुआ है।

ऐसे बात करते-करते उसने मुझे फेसबुक पर एड कर लिया।
हम दोनों की बात तो नहीं हुई लेकिन अब हम फेसबुक पर दोस्त बन गए थे।

अगले दिन जब मैं बाहर टहलने के लिए आया तो मोना फिर आ गयी।
उस दिन हम दोनों के फोन नम्बर एक्सचेंज हो गए।

फिर 2-3 दिन तक मोना से वॉट्सऐप पर बात हुई और केवल 2-3 दिन में ही मोना बहुत ज्यादा खुल कर बातें करने लगी।
मुझे समझ में आ गया कि मोना की चूत में खुजली हो रही है और वो जल्दी ही मेरे नीचे होगी।

कुछ दिन बाद मुझे अपनी पत्नी को प्रसव पीड़ा के कारण हॉस्पिटल में एडमिट करवाना पड़ा। मैं बैठा हुआ बोर हो रहा था और सेक्स करने का मन कर रहा था तो मैंने मोना को मैसेज कर दिया।
उस रात जब मेरी मोना से बात हो रही थी तो हम दोनों सेक्स की बातें करने लगे।

मेरा लंड खड़ा हो रहा था और मोना भी गर्म गर्म बातें कर रही थी जिससे मुझे पता लग रहा था कि उसकी चूत भी गर्म हो रही है।
मैं अपने लंड को सहला रहा था.

मैंने उसे वॉट्सऐप कॉल पर उसके मम्में दिखाने को बोला।
मोना ने बिना किसी नखरे के मुझे उसके चूचे दिखा दिए।

मैंने उसको चूत दिखाने को बोला तो उस हॉट टीन गर्ल ने कहा कि पीरियड चल रहे हैं।

फिर मैंने उसकी चूचियों की वीडियो देखकर बाथरूम में जाकर मुठ मारी और अपना माल निकाल दिया।

इस तरह से एक रात को हम दोनों इतने गर्म हो गए कि हमने बाहर मिलने का प्लान किया।
हमने दिन तय कर लिया।

मगर उससे पहले मेरी पत्नी की डिलीवरी हो गई और मुझे पुत्र प्राप्ति हुई।
तीन-चार दिन बीवी की देखभाल में निकल गए।

फिर शनिवार रात में मैंने उसे कॉल किया और उससे अगले दिन के बारे में पूछा तो वो तैयार थी आने के लिए!

मैंने अगले दिन ओयो में कमरा बुक किया और उसे लेने गया।

घर से थोड़ा दूर जाकर मैंने उसको अपने साथ लिया और उसको कमरे पर ले आया।
कमरा हॉस्पिटल के पास ही था। मैंने कमरा इसलिए वहां बुक किया था कि बीवी को जरूरत पड़ने पर मैं जल्दी से वहां पहुंच सकूं।

हम दोनों रूम में पहुंचे और दरवाजा बंद करते ही मैंने उसको पीछे से हग कर लिया।

मैं उसको दीवार से सटाकर उसकी गर्दन पर किस करने लगा।
फिर मैंने उसको सीधी करके उसके लिप्स पर किस किया और फिर हम स्मूच करने लगे।

मैं अपनी जीभ उसके मुंह में डालकर घुमा रहा था और वो मेरी जीभ चूस रही थी।

मैंने किस करते-करते उसके दोनों मम्में पकड़ लिए और धीरे धीरे दबाने लगा।
फिर मैंने उसे थोड़ा दूर किया और उसके टॉप को उतार दिया।

मोना ने अंदर एक ब्लैक रंग की ब्रा पहनी हुई थी; मैंने जल्दी से उसे भी उतार दिया।

फिर मैंने उसे धक्का देकर बेड पर गिराया और उसकी जीन्स भी उतार दी।
उसने पैंटी भी ब्लैक रंग की पहनी हुई थी।

मैंने जल्दी से अपनी टीशर्ट उतारी और उसके ऊपर लेटकर उसे फिर से किस करने लगा।
मैं अपने हाथों से उसके मम्में और निप्पलों को निचोड़ने लगा।

मेरे हाथों की पकड़ तेज थी और उसके मुंह से उत्तेजना भरी आवाजें आना शुरू हो गई थीं।
मोना धीरे-धीरे गर्म होने लगी, उसकी पैंटी पर गीलेपन का निशान आने लगा।

फिर मैंने उसकी पैंटी में हाथ डाला और उसकी भग्नासा को रगड़ने लगा।
उसकी चूत से अब ज्यादा पानी निकलने लगा।

फिर मैंने उसकी पैंटी भी उतार दी और उसे चूमता हुआ नीचे की तरफ आने लगा।

मैंने उसकी दोनों टांगों को फैला दिया जिससे उसकी चूत उभरकर सामने आ गयी और मैंने उसकी चूत को चूम लिया।
उसकी सिसकारी निकल गयी और वो मेरे बाल पकड़कर मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी।

अब मेरा जोश भी बढ़ने लगा।

उसकी चूत के पानी का स्वाद मुझे पागल कर रहा था।
मैं उसकी चूत को जोर जोर से चूसने लगा।
उत्तेजना इतनी ज्यादा थी कि अभी तक मैंने सही तरह से उसके मम्मों और चूत को देखा भी नहीं था।

मैंने सोचा कि पहले एक राउंड कर लिया जाए, बाद में सब आराम से देख लेंगे।

मैं अपनी जीभ को उसकी चूत में गोल-गोल घुमाने लगा जिससे वो पागल सी हो गयी।

उसकी सिसकारियां तेज हो गईं- ऊंहह्ह … अह्ह … स्स्स … आह्ह … करते हुए वो अपना सिर इधर उधर पटकने लगी।

मोना इतनी ज्यादा उत्तेजित हो गयी थी कि थोड़ी देर में उसका बदन अकड़ गया और वो झड़ गयी।

झड़ने के बाद वो थोड़ी देर के लिए शांत हो गई।

फिर अचानक उठकर वो मुझे जोर से किस करने लगी।
उसने मुझे लेटाकर मेरी जीन्स उतार दी।
मेरा अंडवियर भी बीच में से काफी गीला हो चुका था।

उसकी चूत चूसते-चूसते मेरे लौड़े ने बहुत सारा कामरस छोड़ दिया था।
उसने मेरे अंडरवियर को नीचे खींचा और फिर मेरे पैरों से पूरा बाहर निकाल कर मेरे अंडरवियर से लौड़े का सुपारा पौंछ दिया।

लंड का टोपा पौंछकर उसने मेरे अंडरवियर को एक तरफ फेंक दिया और फिर लंड को हाथ में थाम लिया।
उसने मेरे लंड को दो पल के लिए ध्यान से देखा और फिर उसको गप्प से मुंह में भर लिया।

वो तेजी से मेरे लौड़े पर मुंह को ऊपर नीचे करने लगी और मैं जन्नत की सैर करने लगा।
इतना मजा आ रहा था मुझे … जैसे मैं तो सातवें आसमान पर पहुंच गया।

मोना जोर-जोर से मेरे लौड़े को चूसने लगी।
जैसे-जैसे उसकी स्पीड बढ़ती जा रही थी वैसे-वैसे मेरे आनंद की सीमा भी फैलती जा रही थी।

पता नहीं क्या तरीका था उसका लंड को चूसने का … मैंने पहले इतना आनंद लंड की चुसाई में कभी महसूस नहीं किया था।

मैं ये तो जानता था कि वो काफी खुली हुई है लेकिन ये नहीं जानता था कि उसको लंड चूसने की इतनी अच्छी कला आती है।
मुझे कई महीनों के बाद इतना आनंद मिला था।
आनंद में मेरी आंखें बंद होने लगी थीं।

उसकी लंड चुसाई के सामने में तीन-चार मिनट में ही ढेर हो गया और मेरे लंड ने पचर-पचर उसके मुंह में गर्म गर्म वीर्य निकाल दिया।

उसने वीर्य को अंदर नहीं पीया और फिर उठकर बाथरूम में चली गई।
वो मुंह साफ करके वापस आ गई।

अपने आप को साफ करके जब वो बाहर आई तो पहली बार मैंने उसका फिगर देखा जो 34-28-36 का था।

फिर से मैं उस पर टूट पड़ा और बेड पर उसे गिराकर उसके ऊपर चढ़ गया।

मैं उसे किस करने लगा और नीचे से अपना लौड़ा उसकी चूत पर घिसने लगा।
मेरे दोनों हाथ उसकी दोनों चूचियों को जोर जोर से मसल रहे थे।

जल्दी ही उसके बदन में फिर से उत्तेजना जागने लगी।
उसकी चूत को मैंने हथेली से रगड़ना शुरू कर दिया।

वो मेरी जीभ को चूसने लगी।
मैंने उसकी चूत में उंगली दे दी और तेजी से उसकी चूत को चोदने लगा।

कुछ ही देर में वो तड़प उठी और सिसकारते हुए बोली- चोद दो यार अब … आह्ह … पेल दो जल्दी … पागल कर दिया है तुमने मुझे … जल्दी से चोदो प्लीज।

इसी बीच मेरा यौनांग भी तन कर तैयार हो चुका था.
मैंने लंड पर कॉन्डम लगाया और उसकी चूत पर लंड को सेट कर दिया।

एक धक्का दिया मैंने … और उसकी चूत को फैलाता हुआ मेरा लौड़ा उसके अंदर घुसने लगा।
दो तीन धक्कों में ही पूरा लंड उसकी चूत में उतर चुका था।

दोस्तो, मुझे पता चल गया कि वो पहले से ही चुदी हुई थी।
इसलिए मेरी स्पीड को बढ़ते देर न लगी।
मैं जोर जोर से उसकी चूत में लंड को पेलने लगा।

वो भी मस्त होने लगी।
उसके चेहरे से पता लग रहा था कि उसको लंड लेने में कितना मजा आ रहा है।

वो टांगें खोलकर चुद रही थी और मैं फकाफक उसकी चूत में लंड को पेले जा रहा था।

थोड़ी देर में उसकी चूत पच-पच करने लगी। चूत से काफी मात्रा में पानी निकलने लगा।
मुझे अंदाजा हो गया कि मोना के अंदर बहुत ज्यादा सेक्स भरा हुआ है।

मैं भी उसको चोदने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा था।
उसकी चूत से पानी बहकर नीचे आने लगा था और उसने बेड की चादर पर गीला धब्बा बना दिया था।

मोना बहुत ज्यादा मस्ती में आ गयी। उसने मुझे नीचे लेटने को बोला और खुद मेरे ऊपर आ गयी।

उसने मेरे लंड को चूत में ले लिया और बैठकर ऊपर से धक्के मारने लगी जैसे उसे मैं नहीं बल्कि वो मुझे चोद रही थी।

उसके मुंह से सीत्कार निकल रहे थे।
मैं उसे हचक कर चोद रहा था।
उसकी मस्त चूचियां ऊपर नीचे हिल रही थीं जिनको बीच बीच में नीचे होकर वो पिलाने लगती थी।

इस अंदाज में उसकी चूत मारने में मुझे भी बहुत मजा आ रहा था।
फिर मैंने उसकी गांड को हाथों से थाम लिया और उसको ऊपर नीचे लंड पर पटकते हुए चोदने लगा।

पट-पट की आवाज होने लगी जिससे चुदाई का रोमांच और ज्यादा बढ़ गया।

फिर 20 मिनट बाद मैं झड़ने को हुआ तो मैंने उससे कहा- मेरा होने वाला है।
मगर वो जैसे कुछ सुन ही नहीं रही थी।
चोदते चोदते मेरा पानी उसकी चूत में ही निकल गया।

इस 20 मिनट की चुदाई में वो 2 बार झड़ी।
हम दोनों झड़कर शांत हो गए।

उसके बाद हमने खुद को साफ किया।

बाथरूम में मैंने उसकी चूत में उंगली की और फिर किस करके बाहर आ गए।

हम दोनों ने कपड़े पहने और फिर वहां से निकल आए।

मोना के साथ ये पहली चुदाई थी।
मगर ये चुदाई पहली तक ही सीमित नहीं रही, उसके बाद उस फ्लैट में रहते हुए मैंने मोना को बहुत पेला।

एक साल तक मैंने मोना की चुदाई की और उसकी गांड भी मारी।

फिर लॉकडाउन होने से पहले मेरी उससे बातचीत बन्द हो गयी।
उसके बाद वो लोग वहां से चले गए और अब मेरे पास उसका कोई कॉन्टेक्ट नहीं है।

मोना की चुदाई मुझे कई बार याद आ जाती है।

आपको मेरी ये हॉट टीन गर्ल चुदाई स्टोरी कैसी लगी मुझे आप लोग जरूर बताना।
मैं आप सबकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार करूंगा।
मेरा ईमेल आईडी है-

Posted in अन्तर्वासना

Tags - aantarvasanaanarvasnacollege girldoctor ne chodahot girlhotel sexoral sexpadosireal sex storysexstoryhindiuncle sex storymadhu xxx